बल्लेबाजों की सुरक्षा को लेकर चिंतित सचिन तेंदुलकर, ICC से की हेलमेट अनिवार्य करने की अपील

दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने मंगलवार को कहा कि अधिकारियों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि पेशेवर स्तर पर कोई भी बल्लेबाज बिना हेलमेट के पिच पर ना जाए। सचिन ने अपने करियर में कभी भी बिना हेलमेट के बल्लेबाजी नहीं की। सचिन ने ट्वीट करके आइपीएल के 13वें सत्र में 24 अक्टूबर को हुई एक घटना का जिक्र करते हुए आइसीसी से अपील की कि खिलाड़ियों की सुरक्षा के लिए जरूरी है कि बल्लेबाजों को किसी भी हाल में बिना हेलमेट के मैदान में ना उतरने दिया जाए।

सचिन ने जिस मैच का जिक्र किया है, वह किंग्स इलेवन पंजाब और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच खेला गया था और इस मैच के दौरान विजय शंकर के चेहरे पर पंजाब के फील्डर निकोलस पूरन के एक थ्रो पर गेंद लगी थी। वह रन लेने के लिए दौड़ रहे थे। शुक्र है वह उस वक्त हेलमेट पहने हुए थे।

सचिन ने इस घटना का वीडियो साझा करते हुए लिखा, खेल तेज हो रहा है, लेकिन क्या यह सुरक्षित भी हो रहा है? हाल ही में मैंने एक घटना देखी, जो काफी दर्दनाक थी। चाहें वो स्पिनर हो या तेज गेंदबाज, बल्लेबाजों को बिना हेलमेट के विकेट पर ना उतरने दिया जाए। आइसीसी से आग्रह है कि वह इसे प्रथमिकता से ले।

अंतिम गेंद पर दो रन लेते वक्त एक डीप मिडविकेट से एक थ्रो आया और उनके हेलमेट पर लगा। गेंद गर्दन की तरफ हेलमेट पर लगे सेफ्टी गियर पर लगी, जो टूटकर जमीन पर गिर गया। हेलमेट न होने पर वह गंभीर तौर पर चोटिल हो सकते थे। तेंदुलकर ने इस वाक्ये पर ट्वीट किया और कहा कि शुक्र है कि मेरे दोस्त धवल कुलकर्णी ने हेलमेट पहना हुआ था।