Post Office Internet Banking: कैसे एक्टिवेट करें इंटरनेट बैंकिंग, कैसे उठाएं इस सुविधा का लाभ, जानिए हर जानकारी

इंडिया पोस्ट, पोस्ट ऑफिस सेविंग बैंक (POSB) खाताधारकों के लिए इंटरनेट बैंकिंग की सुविधा देता है। इंटरनेट बैंकिंग के लिए ग्राहकों के पास वैध सक्रिय सिंगल या जॉइंट संयुक्त बचत खाता होना चाहिए। ग्राहक ebanking.indiapost.gov.in पर इंटरनेट बैंकिंग सुविधा का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके अलावा केवाईसी चालू डीओपी एटीएम/डेबिट कार्ड, मोबाइल नंबर, ईमेल पता और स्थायी खाता संख्या (पैन) होना चाहिए। इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से फंड को एक खाते से दूसरे खाते में भेजा जा सकता है।

यूजर्स अपने इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से बचत बैंक खाते से रेकरिंग डिपॉजिट (आरडी) खाते और पोस्ट ऑफिस के सार्वजनिक भविष्य निधि (पीपीएफ) खाते में ऑनलाइन जमा भी कर सकते हैं। POSB खाताधारक इंडिया पोस्ट इंटरनेट बैंकिंग सुविधा के माध्यम से आरडी खाता और सावधि जमा (एफडी) खातों को भी लेन-देन, खोल, बंद कर सकते हैं।

इंडिया पोस्ट इंटरनेट बैंकिंग, जानिए कैसे एक्टिवेट करें

स्टेप 1: होम ब्रांच पर जाकर प्री-प्रिंटेड एप्लिकेशन फॉर्म भरना होगा

स्टेप 2: आवश्यक दस्तावेजों के साथ आवेदन पत्र जमा करें

स्टेप 3: प्रोसेसिंग के बाद रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक एसएमएस अलर्ट मिलेगा

स्टेप 4: SMS में बताए गए URL का उपयोग करके इंटरनेट बैंकिंग पेज खोलें और हाइपरलिंक ‘न्यू यूजर एक्टिवेशन’ का उपयोग करें

स्टेप 5: आवश्यक डिटेल भरें और इंटरनेट बैंकिंग लॉगिन पासवर्ड और लेनदेन पासवर्ड कॉन्फ़िगर करें

स्टेप 6: अब पासफ़्रेज़ के साथ सुरक्षा से जुड़े सवाल और जवाब लॉगिन और कॉन्फ़िगर करें। पासफ़्रेज़ एक सुरक्षा ऐड-ऑन सुविधा है, जो पुष्टि करता है कि ग्राहक वास्तविक DOP के इंटरनेट बैंकिंग URL में प्रवेश कर रहा है।

दूसरी ओर पैसे के निवेश के लिए Fixed Deposit एक इंस्ट्रुमेंट है जो निवेशकों के बीच काफी लोकप्रिय है। इस योजना में निवेश करने पर आपको गारंटीड रिटर्न प्राप्त होता है।

ऐसे में Post Office की पहुंच सबसे ज्यादा है और यही वजह है कि Post Office Fixed Deposit और Post Office Term Deposit निवेशकों के बीच काफी लोकप्रिय है।

पोस्ट ऑफिस एमआईएस (मासिक आय योजना) केंद्र सरकार द्वारा समर्थित सुरक्षित निवेश है। पोस्ट ऑफिस एमआईएस किसी व्यक्ति द्वारा या समान निवेश वाले 2 से 3 लोगों द्वारा खोला जा सकता है और यह 5 वर्षों के कार्यकाल के साथ आता है। सिंगल अकाउंट रखने वाले निवेशक 4.5 लाख रुपये तक का निवेश कर सकते हैं, जबकि एक संयुक्त खाते के साथ निवेश राशि 9 लाख रुपये तक जा सकती है। पोस्ट ऑफिस MIS मौजूदा समय में निवेश पर 6.6 फीसद का ब्याज देता है।