युवक ने फिलिस्तीन के सपोर्ट में वॉट्सऐप स्टेटस लगाया:कर्नाटक पुलिस ने हिरासत में लिया, एंटी नेशनल वीडियो सर्कुलेट करने का भी आरोप

कर्नाटक के विजयनगर जिले में पुलिस ने फिलिस्तीन के सपोर्ट में वॉट्सऐप स्टेटस लगाने पर आलम पाशा नाम के एक व्यक्ति को हिरासत में लिया है।

पुलिस को खुफिया जानकारी मिली कि विजयनगर के होसपेट में कुछ लोग इजरायल-हमास जंग के दौरान फिलिस्तीन को खुला समर्थन कर रहे हैं। साथ ही ये लोग देश विरोधी वीडियोज भी फैला रहे थे।

होसपेट में कानून-व्यवस्था बिगड़ने की संभावना के मद्देनजर एहतियात के तौर पर, पुलिस ने ऐसे वीडियो के प्रचार से रोकने के लिए आलम पाशा को हिरासत में लिया। पाशा के खिलाफ देशद्रोही बातें फैलाने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है और उसे कार्यकारी मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जाएगा।

AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने 11 अक्टूबर को सोशल मीडिया X (पूर्व टि्वटर) पर फिलिस्तीन जिंदाबाद का नारा लगाया था। ओवैसी ने लिखा था- फिलिस्तीन जिंदाबाद। हिंसा मुर्दाबाद (मुख्य रूप से इजरायल या किसी समूह/संगठन द्वारा की गई)। मस्जिद अल अक्सा आबाद रहे।

कांग्रेस बोली- फिलिस्तीनियों को मिलना चाहिए उनका अधिकार
कांग्रेस ने 9 अक्टूबर को दिल्ली में पार्टी की वर्किंग कमेटी (CWC) की बैठक के दौरान इजराइल पर हमास के हमले में फिलिस्तीन का समर्थन किया था। बैठक के बाद एक प्रस्ताव पास कर कहा था कि मिडिल ईस्ट में हो रहे युद्ध में हजारों लोग मारे गए हैं, हमें इसका दुख है। CWC फिलिस्तीनी लोगों के जमीनी हक, स्वशासन, आत्मसम्मान और गरिमा से जीने के अधिकारों के लिए समर्थन को दोहराती है।

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) के छात्रों ने 8 अक्टूबर को फिलिस्तीन के समर्थन में नारे लगाए थे। रविवार देर शाम यूनिवर्सिटी कैंपस में करीब 400 छात्रों ने रैली निकाली। इसमें फ्री फिलिस्तीन, नारा-ए-तकबीर…अल्लाह हू अकबर, ला इल्लाह इल अल्लाह जैसे नारे लगाए। वहीं इस मामले में सीओ की प्रारंभिक जांच के बाद पुलिस ने 4 लोगों पर FIR दर्ज की।