सीएम अरविंद केजरीवाल ने लोकनायक अस्पताल की एक नई इमारत का किया शिलान्यास

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार सुबह दिल्ली के सबसे बड़े कोविड-19 अस्पताल लोकनायक का दौरा किया। तय कार्यक्रम के मुताबिक, वह सुबह 11 बजे अस्पताल पहुंचे। इस दौरान मुख्यमंत्री केजरीवाल लोकनायक अस्पताल के अंतर्गत बनने वाली एक नई 22 मंजिला इमारत का भूमि पूजन कर उसका शिलान्यास किया। इस बिल्डिंग को एक लाख वर्ग मीटर क्षेत्रफल में स्थित भूखंड पर बनाया जाएगा। लोकनायक अस्पताल के निदेशक डॉ सुरेश कुमार ने बताया कि इस इमारत को एडवांस पीडियाट्रिक एंड मेटरनिटी ब्लॉक नाम दिया गया है। इसमें दो तल पर आइसीयू, दो तल पर रिसर्च लैब और बाकी तल पर चिकित्सा वार्ड होंगे। इस नई इमारत के बनने से अस्पताल में चिकित्सा सेवाओं का विस्तार होगा। जिससे दिल्ली और अन्य पड़ोसी राज्यों से इलाज के लिए लोकनायक अस्पताल में आने वाले मरीजों को बड़ा लाभ मिलेगा।

आपको बता दें कि नई बनने वाली इमारत लोकनायक अस्पताल और गोविंद बल्लभ पंत अस्पताल के बीच में बनी हुई पुरानी ब्रिटिश कालीन इमारत को ध्वस्त करके बनाई जा रही है। ब्रिटिश कालीन इमारत को 60 साल से ज्यादा समय हो जाने के कारण उसे ध्वस्त किया गया। यह दिल्ली सरकार के बड़े प्रोजेक्ट में से एक है। उल्लेखनीय है कि कोविड-19 दाल बनने से पहले सामान्य दिनों में लोकनायक अस्पताल की ओपीडी में प्रतिदिन 9000 मरीजों को देखा जाता था और 200 से ज्यादा मरीजों के ऑपरेशन प्रतिदिन होते थे। इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि लोकनायक अस्पताल की क्या अहमियत है।

अस्पताल का दावा है कि यह आंकड़े दिल्ली स्थित किसी भी सरकारी अस्पताल में प्रतिदिन होने वाले मरीजों के इलाज और ऑपरेशन दोनों के मामले में सबसे ज्यादा है। फिलहाल कोविड-19 अस्पताल होने के कारण करीब सात महीने से लोकनायक अस्पताल में गैर कोरोना मरीजों का इलाज बंद है। हालांकि अस्पताल में गैर कोरोना मरीजों का इलाज शुरू करने के लिए कई संस्थाओं की ओर से मांग की जा रही है। इस महीने के अंत तक अस्पताल में गैर कोरोना वाले मरीजों का इलाज शुरू होने की उम्मीद है।