एच-4 वीजा के नवीनीकरण में की जा रही अनावश्यक देरी, भारतीय महिलाओं ने लगाए आरोप

अमेरिका स्थित भारतीय महिलाओं ने आरोप लगाया गया है कि एच-1बी वीजाधारकों के जीवनसाथियों को काम करने की अनुमति देने वाले एच-4 वीजा के नवीनीकरण में अनावश्यक देरी की जा रही है। बता दें कि एच-4 वीजा अमेरिका नागरिकता और आव्रजन सेवा (यूएससीआइएस) द्वारा जारी किया जाता है। यह एच-1बी वीजाधारकों के जीवनसाथियों और उनके 21 वर्ष के कम उम्र के बच्चों को दिया जाता है।

एच-1बी वीजा की बात करें तो इसे विशेष काम करने वाले कर्मचारियों को दिया जाता है। अमेरिकी कंपनियां दूसरे देशों के तकनीकी विशेषज्ञों को नियुक्त करने के बाद सरकार से इन लोगों के लिए एच-1बी वीजा की मांग करती हैं। अमेरिका की ज्यादातर आइटी कंपनियां प्रत्येक वर्ष भारत और चीन जैसे देशों से लाखों कर्मचारियों की नियुक्ति इसी वीजा के जरिये करती हैं। एच-1बी वीजा गैर अनिवासी वीजा है।

एच-4 वीजा जारी करने में हो रही देरी के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर भारतीय महिलाओं ने कैलिफोर्निया के सैन जोस में विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान महिलाओं ने आजीविका बचाने के लिए सरकार से गुहार लगाई। एच-1बी वीजाधारकों के अधिकांश जीवनसाथी महिलाएं हैं और ओबामा शासनकाल के दौरान इन्हें अमेरिका में रोजगार करने संबंधी अनुमति दी गई थी।