सामूहिक दुष्कर्म मामला : लंबी होती जा रही है एसआइटी की पूछताछ, आज दो और किसान नेताओं को बुलाया

आंदोलन में बंगाल से आई 25 वर्षीय युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म मामले में बहादुरगढ़ पुलिस की एसआइटी (स्पेशल इंवेस्टिगेशन टीम) की पूछताछ लंबी होती जा रही है। 8 मई को इस मामले में पीड़िता के पिता की शिकायत पर एफआइआर दर्ज हुई थी और उसके एक दिन बाद से ही पुुलिस द्वारा इस मामले में किसान नेताओं को पूछताछ के लिए बुलाया जा रहा है। तीन सप्ताह से ज्यादा वक्त हो चुका है। अभी तक दो महिला आरोपितों समेत 22 से अधिक लोगों से पूछताछ की जा चुकी है।

इसमें कई बातें निकलकर सामने तो आई है लेकिन पुलिस अभी इस मामले में किसी को गिरफ्तार नहीं कर पाई है। यह अलग बात है कि कुल छह आरोपितों में से तीन की गिरफ्तारी को लेकर झज्जर पुलिस ने इनाम भी रख दिया है और उनकी तलाश में छापेमारी भी की है, मगर वे हाथ नहीं आए। इनमें अनिल मलिक, अनूप चानौत और अंकुर सांगवान शामिल हैं।

दो दिनों तक वीडियो वायरल करता रहा आरोपित :

एफआइआर दर्ज हाेने के दो दिन बाद तक एक आरोपित अनूप चानौत तो अपनी वीडियो वायरल करता रहा और खुद को निर्दोष बताता रहा। वह यह भी कहता रहा कि… छाती ठोकर कहता हूं मैं कहीं पर नहीं गया हूं। टीकरी बॉर्डर पर ही हूं। एक वीडियो तो उसने किसी तंबू में बैठकर ही बनाई थी। हालांकि दूसरी वीडियो में वह किसी कमरे में नजर आया था। उसके बाद से ही वह भूमिगत है। उसके स्वजन उसको निर्दोष बताते हुए टीकरी बॉर्डर पर पहुंचे थे और किसान नेताओं के साथ गोपनीय बैठक की थी, मगर यहां पर डटे नेताओं ने यह साफ कर दिया था कि वे इस मामले में पीड़िता के पिता के साथ खडे़ हैं। बता दें कि इस घटना में किसान सोशल आर्मी के चार नेताओं के अलावा दो महिला वॉलंटियर के खिलाफ विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया गया था।

दो दिनों से मोहलत मांग रहे किसान नेता:

बहादुरगढ़ पुलिस की एसआइटी ने दो और किसान नेताओं नीरवर सिंह और सुखविंद्र को दो दिन पहले नोटिस दिया था, मगर ये किसान नेता पुलिस से बाद में आने के लिए मोहलत मांग रहे हैं। अब फिर से इनको नोटिस जारी करके पूछताछ के लिए बुलाया गया है। दरअसल पुलिस की पूछताछ में कड़ी जुड़ रही हैं। ऐसे में जिनका भी नाम सामने आ रहा है, उन सभी को पूछताछ के लिए बुलाया जा रहा है। एसआइटी में शामिल शहर थाना प्रभारी विजय कुमार ने बताया कि पुलिस किसी भी बिंदु की अनदेखी नहीं करेगी। सभी आवश्यक सुबूत जुटाए जा रहे हैं। अभी तक ज्यादातर लोगों ने पूछताछ में एक जैसी बात कही है। बाकी खुलासा मुख्य आरोपितों की गिरफ्तारी के बाद ही होगा।