Pooja Bhatt ने बदायूं दुष्कर्म को लेकर महिला आयोग की सदस्य के बयान पर उठाये तीखे सवाल

उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में एक महिला के साथ हैवानियत की गई है। यहां 50 साल की महिला के साथ कुछ दरिंदों ने मिलकर सामूहिक दुष्कर्म किया और मौत के घाट उतार दिया। इस घटना के बाद से एक बार फिर से प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े हो रहे हैं। हालांकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मामले पर तुरंत कड़ी कार्रवाई करने के आदेश दिए और पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार किया।

वहीं इस बीच बदायूं सामूहिक दुष्कर्म मामले को लेकर महिला आयोग की सदस्य चंद्रमुखी ने ऐसा बयान दिया है जिसकी वजह से आयोग को आलोचना का सामना करना पड़ा रहा है। इतना ही नहीं बॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री पूजा भट्ट ने भी चंद्रमुखी के विवादित बयान पर अपना गुस्सा जाहिर किया और राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा से तीखा सवाल भी किया।

दरअसल महिला के साथ हुई सामूहिक दुष्कर्म की घटना के बारे में बात करते हुए चंद्रमुखी ने अपने बयान में कहा, ‘किसी के प्रभाव में महिला को समय-असमय घर से नहीं जाना चाहिए। सोचती हूं अगर संध्या के समय वह महिला नहीं गई होती या कोई परिवार का बच्चा साथ होता तो शायद ऐसी घटना नहीं होती’। चंद्रमुखी के इस बयान पर खूब चर्चा हो रही हैं। साथ ही उन्हें ऐसा बयान देने पर आलोचना का भी सामना करना पड़ा रहा है।

वहीं अभिनेत्री पूजा भट्ट ने चंद्रमुखी के इस बयान के बाद सोशल मीडिया पर उनकी आलोचना की और राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा को सवालों के घेरे में खड़ा किया। पूजा भट्ट ने ट्विटर पर चंद्रमुखी के बयान के बाद रेखा शर्मा और राष्ट्रीय महिला आयोग को टैग करते हुए लिखा, ‘रेखा जी क्या आप इस बयान से सहमत हैं। क्या आपको भी यही लगता है कि महिला का गलत समय में मंदिर जाने के लिए बाहर निकलना ठीक नहीं था।’

पूजा भट्ट के इस ट्वीट का रेखा शर्मा ने भी जवाब दिया है। उन्होंने अपने जवाब में महिला आयोग की सदस्य चंक्रमुखी के बयान का खंडन किया। साथ ही महिलाओं को लेकर अपनी साफ राय भी दी। रेखा शर्मा ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘मैं इससे बिल्कुल भी सहमत नहीं हूं। मुझे नहीं पता कि सदस्य ने ऐसा क्यों कहा है। सभी महिलाओं को पूरा हक है कि वह कभी भी और कही भी जा सकती हैं। महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करना समाज का काम है।’

रेखा शर्मा के इस जवाब पर पूजा भट्ट ने भी सहमति जताई है। साथ ही उम्मीद की है कि इस मामले में भी जल्द न्याय होगा। आपको बता दें कि बदायूं में महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या की वारदात में मुख्य आरोपित सत्य नारायण को पुलिस ने गुरुवार रात गिरफ्तार कर लिया है। सोमवार को वह धर्म स्थल से फरार हो गया था। उसकी तलाश में पुलिस टीमें उत्तराखंड, बरेली, चंदौसी, कासगंज में दबिश देती रही थीं, जबकि वह उसी गांव में छिपा रहा। गुरुवार रात पुलिस को पता चला कि वह किसी चेले के घर में छिपा है। रात करीब 11 बजे दबिश देकर उसे गिरफ्तार कर लिया गया। उसे शरण देने वाले युवक को भी पुलिस थाने लेकर आई है।