Metroman E Sreedharan: जानें- कौन है ‘मेट्रो मैन’ ई श्रीधरन? क्यों ज्वाइन करना चाहते हैं भाजपा

मेट्रो मैन के नाम से मशहूर ई श्रीधरन जल्द ही भाजपा में शामिल होंगे। केरल में इसी साल विधानसभा चुनाव होने हैं। इस लिहाज से श्रीधरन के साथ जुड़ने से भाजपा को फायदा मिल सकता है। श्रीधरन, सुरेंद्रन के नेतृत्व में 21 फरवरी से निकाली जा रही विजय यात्रा के दौरान आधिकारिक तौर पर पार्टी की सदस्यता लेंगे। इस संबंध में श्रीधरन ने कहा कि मैं भाजपा में शामिल होने का इरादा जताया है। भाजपा में शामिल होने का मुख्य कारण यह है कि यूडीएफ और एलडीएफ दोनों ही यहां कई काम नहीं कर सकते हैं। मैं केरल के लिए कुछ करना चाहता हूं। उसके लिए मुझे भाजपा के साथ खड़ा होना होगा। मैंने कहा है कि मैं चुनाव लड़ने के लिए तैयार हूं।

वहीं केरल भाजपा प्रमुख सुरेंद्रन ने बताया कि श्रीधरन ने भाजपा के साथ काम करने की इच्छा जाहिर की है। विजय यात्रा जब मलप्पुरम पहुंचेगी, तभी वह पार्टी से जुड़ेंगे। मलप्पुरम श्रीधरन का गृह जिला है। सुरेंद्रन ने कहा कि यह हमारी इच्छा है कि मेट्रो मैन विधानसभा चुनाव लड़ें। हमने इसका प्रस्ताव दिया है।

जानें- कौन है श्रीधरन

88 साल के श्रीधरन भारत के मशहूर सिविल इंजीनियर हैं। वे 1995 से 2012 तक दिल्ली मेट्रो के निदेशक रहे। भारत सरकार ने उन्हें 2001 में पद्मश्री और 2008 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया था। उन्हें देश में पब्लिक ट्रांसपोर्ट की सूरत बदलने के लिए जाना जाता है। ईमानदार छवि की वजह से वह काफी लोकप्रिय हैं। श्रीधरन प्रधानमंत्री मोदी के समर्थक माने जाते हैं। 2014 में लोकसभा चुनाव से पहले 2 बार उन्होंने नरेंद्र मोदी को अच्छा नेता बताया था। मोदी की प्रधानमंत्री पद की दावेदारी का समर्थन करने वालों में भी उनका नाम शामिल था।

चुनाव से पहले केरल में सियासी जोड़तोड़

बता दें कि अप्रैल-मई में केरल विधानसभा चुनाव से पहले राज्य में जोड़तोड़ शुरु हो गई है। हाल में भाजपा की सहयोगी और एनडीए में शामिल भारत धर्म जन सेना ने गठबंधन से नाता तोड़ लिया। बीडीजेएस के कुछ नेताओं ने पार्टी छोड़कर नया दल बना लिया है। इसे भारती जन सेना नाम दिया गया है। कुछ दिन पहले ही भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्‌डा 2 दिन के दौरे पर केरल गए थे।