विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के लिए प्रचार करना चाहते हैं गुलाम नबी आजाद, लेकिन…

पश्चिम बंगाल, असम समेत पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। पार्टियों ने उम्मीदवारों की सूची जारी करना शुरू कर दिया है। इस बीच, कांग्रेस नेता और पूर्व राज्यसभा सांसद गुलाम नबी आजाद को लेकर कई अटकलें लगाई जा रही हैं। पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा करने के बाद से ही पार्टी कार्यकर्ताओं और कई नेताओं के निशाने पर रहे आजाद को लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं कि क्या वे चुनाव में कांग्रेस के लिए प्रचार करेंगे या नहीं। गुलाम नबी आजाद ने खुद इन सवालों का जवाब दिया है। आजाद ने कहा है कि जहां भी पार्टी उन्हें प्रचार के लिए आमंत्रित करेगी, वहां वे प्रचार करेंगे।

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि आगामी राज्य चुनावों में कांग्रेस पार्टी की जीत मेरी प्राथमिकता है। मुझे जहां भी पार्टी या किसी व्यक्ति की ओर से आमंत्रित किया जाएगा, वहां प्रचार करूंगा।’ बता दें कि हाल के दिनों में गुलाम नबी आजाद दो बार प्रधानमंत्री मोदी की प्रशंसा भी कर चुके हैं। बता दें कि कांगेस के 23 नेताओं ने पिछले साल अगस्त में कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी को पत्र लिखा था और पार्टी में संगठनात्मक बदलाव करने के साथ ही पूर्णकालिक पार्टी अध्यक्ष की मांग की थी। तभी से इन नेताओं के समूह को ‘जी-23’ भी कहा जाता है।

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जलाया था आजाद का पुतला

पूर्व राज्यसभा सांसद और वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद के पीएम मोदी की तारीफ करने पर जम्मू-कश्मीर कांग्रेस के नेता कार्यकर्ता नाराज हैं। इस सिलसिले में जम्मू कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने गुलाम नबी आजाद के खिलाफ पिछले दिनों  प्रदर्शन भी किए थे। इस दौरान गुलाम नबी के पुतले जलाए गए और नारेबाजी हुई थी। बता दें कि हाल ही में गुलाम नबी ने पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ कर उन्हें जमीन से जुड़ा व्यक्ति बताया था।

जम्मू में हुई थी जी-23 की बैठक

बता दें कि कांग्रेस के कई नेता पार्टी आलाकमान के विरोध में खुलकर सामने आ गए हैं। पिछले दिनों ग्रुप जी-23 में शामिल इन नेताओं ने जम्मू-कश्मीर में एक आयोजन किया और कांगेस में नेतृत्व परिवर्तन और संगठनात्मक फेरबदल की मांग की थी। इस कार्यक्रम में गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा, कपिल सिब्बल समेत कई नेता मौजूद थे।

पीएम मोदी को लेकर क्या बोले थे आजाद?

इसके बाद गुलाम नबी ने पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ की थी। उन्होंने कहा था कि प्रधानमंत्री बनने के बाद भी वह जमीन से जुड़े हुए हैं और खुद को गर्व से चाय वाला बताते हैं। इससे करीब 3 सप्ताह पहले राज्यसभा में विदाई भाषण के दौरान पीएम मोदी ने भरी हुई आंखों से नबी आजाद की प्रशंसा की थी।

पीएम मोदी ने गुलाम आजाद को किया था सैल्यूट

आजाद के जम्‍मू-कश्‍मीर के मुख्‍यमंत्री रहने के दौरान हुई एक आतंकी घटना का जिक्र कर मोदी भावुक भी हुए थे और आजाद को सैल्‍यूट किया था। राज्‍यसभा का कार्यकाल खत्‍म होने के बाद आजाद इन दिनों जम्‍मू कश्‍मीर के दौरे पर आए हैं।